आप के कटटरपंथीओ से सम्बन्ध पर अमन अरोड़ा की चुनौती

0
65
SUPPORT US BY SHARING

मौड़ मंडी ब्लास्ट में आम आदमी पार्टी को अकाली दल,भाजपा और कांग्रेस ने मिलकर बदनाम किया क्योंकि वो आम आदमी पार्टी को सत्ता से दूर रखना चाहती थी इसलिए ब्लास्ट की सीबीआई जांच की जाए और लोगो के सामने सच आ जाये कि कैसे यह तीनों सरकारे पंजाब की जनता को गुमराह कर रहे है ।यह कहना है आम आदमी पार्टी के विधायक अमन अरोड़ा का जो चंडीगढ़ में मीडिया से रूबरू हो रहे थे ।
आम आदमी पार्टी के विधायक अमन अरोड़ा ने कहा कि लंबे समय से अकाली दल और कांग्रेस  लोगो को धोखा दे रहे है ।मौड़ मंडी ब्लास्ट 30 जनवरी 2017 को हुआ था जिसमें सात लोगो ने अपनी जान गवाई और उस वक़्त अकाली दल,भाजपा और कांग्रेस ने मिलकर लोगो को यह कहकर भड़काया कि इस ब्लास्ट के पीछे आम आदमी पार्टी का हाथ है ।और आज शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल मोड मंडी ब्लास्ट में डेरा प्रेमियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे है लेकिन वो यह बताए कि वो किस हक से यह मांग कर रहे हैं।हरमिंदर सिंह जस्सी जो कि कांग्रेस के उम्मीदवार थे जोकि डेरा सच्चा सौदा के संबधी है और अकाली दल का और डेरा प्रमुख का आपसी लिंक है जहां अकाली दल और कांग्रेस के 44 उम्मीदवार सपोर्ट लेने के लिए डेरा सच्चा सौदा के पास गए थे।इसलिए किस मुँह से आज यह डेरा प्रेमियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे है ।
अमन अरोड़ा ने कहा कि सत्ता के लालच में इन तीनो पार्टियों ने लम्बे समय से गुमराह कर रहे है और असली मुद्दों से भटक रहे है । इसलिए आम आदमी पार्टी का खुला  चैलेंज है कि यदि आम आदमी पार्टी का लिंक किसी भी आतंकवादी,रेडिकल ग्रुप के साथ साबित कर सकते है तो आप पार्टी के सभी नेताओं को फांसी लगा लो ।यहां तक एसआईटी की जांच इस ब्लास्ट को लेकर चल रही है लेकिन सरकार ढील बरत रही है और हाई कोर्ट सरकार को जल्द से जल्द मामले की जांच करने की मांग कर रहे है ।इसके लिए यह अकाली दल,बीजेपी और कांग्रेस और सेंट्रल एजेंसीज का हाथ है क्योंकि बीजेपी की सरकार केंद्र में है ।उस वक़्त बिना किसी इन्वेस्टीगेशन के यह इल्जाम लगाया था कि रेडिकल के साथ मिलकर पंजाब को बर्बाद करने का आरोप लगाया और यह सब किया ठीक चुनावों से पहले और आम आदमी पार्टी को सत्ता से दूर रखने के लिए यह किया ।
पंजाब में जिस तरह से जेश ए मुहमद के आतंकियों की सूचना सामने आई है उससे साफ होता है कि विदेशों में बैठी ताकतें पंजाब को भारत को कमजोर करना चाहती हैं।जिन तरह से रेफरेंडम में भी आईएसआई के लोग व और भी गलत लोग देखे गए थे उससे पता चलता है कि गलत मंसूबों के साथ ये लोग इकठे होक काम कर रहे हैं।इसके लिए केंद्रीय एजंसियों को कदम उठाने चाहिए ताकि पंजाब में किसी तरह की गलत गतिविधियां न हो सके।पंजाब में युवाओं के पास रोजगार नही है जिसके चलते आसान समझती है गलत शक्तियांकी जिस तरह से नशेकि पुडियं युवाओं को थमाई तो उनका गलत इस्तेमाल नही कर सके।

SUPPORT US BY SHARING

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here