माफी मांग पश्चाताप करे ब्रिटिश सरकार -हरपाल सिंह चीमा

19-Jan-27 12:42:43
0
142
SUPPORT US BY SHARING

आम आदमी पार्टी ने विश्व भर में बैठे समूचे पंजाबियों और देश भक्तों की भावनाओं के मद्देनजर मांग की है कि गोली कांड जलियांवाला बाग की शताब्दी पर ब्रिटिश सरकार अपनी हकूमत के उस दर्दनाक घटना के लिए माफी मांग कर पश्चाताप करे।
विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने इस सम्बन्धित आगामी विधान सभा सैशन में एक विशेष प्रस्ताव सदन में पेश करने के लिए स्पीकर राणा के.पी. सिंह को पत्र लिखा है।
‘आप’ द्वारा जारी ब्यान में हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि 13 अप्रैल 2019 को गोलाकांड जलियांवाला बाग़ का शताब्दी वर्ष शुरू हो जाएगा। अंग्रेजी हकूमत की गुलामी के विरुद्ध पंजाबियों के बेमिसाल योगदान के मद्देनजर यह शताब्दी वर्ष पंजाब समेत पूरे देश निवासियों के लिए विशेष महत्वपूर्ण रखता है। इस लिए पंजाब सरकार को शहीदों को समर्पित यह शताब्दी वर्ष विशेष तैयारियों के साथ मनाना चाहिए।
हरपाल सिंह चीमा ने स्पीकर को लिखे पत्र का हवाला देते हुए बताया कि 100 वर्ष पहले ब्रिटिश की हकूमत ने जलियांवाला बाग में शांतमई ढंग से बैठे 1,000 से अधिक निहत्थे आजादी परवानों को गोलियों के साथ भून दिया था, परंतु आज दुनिया भर में लोकतंत्र का पथ प्रदर्शक बने इंग्लैंड जलियांवाला बाग़ नरसंहार के लिए माफी नहीं मांगी और पश्चाताप नहीं किया। जबकि कैनेडा की पार्लियामेंट ने कामागाटा मारू सम्बन्धित अपनी बेइन्साफी के लिए माफी मांग कर पश्चाताप कर लिया है।
चीमा ने बताया कि कैनेडा पर आधारित प्रो. मोहन सिंह मेमोरियल फाउंडेशन के प्रमुख साहिब सिंह थिंद और अन्य सदस्यों की कोशिशों के चलते कैनेडा की पार्लियामेंट ने कामागाटा मारू पर माफी मांगी थी और उस संस्था ने साहिब सिंह थिंद के नेतृत्व में विरोधी पक्ष समेत पंजाब और देश के अलग अलग नेताओं को मिल कर यह गैर राजनैतिक मांग रखी है, जिस के आधार पर स्पीकर को पत्र लिखा गया है।
चीमा ने कहा कि पंजाब विधान सभा में पास किए प्रस्ताव को भारत सरकार के द्वारा ब्रिटिश की सरकार के पास भेजा जायेगा।


SUPPORT US BY SHARING